क्रेडिट कार्ड के नुकसान|Disadvantages Of Credit Card.

नमस्कार ! हमारे पिछले आर्टिकल में हम क्रेडिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड के फायदों के बारे में बात की थी.मगर आज के आर्टिकल में हम बात करेंगे क्रेडिट कार्ड के नुकसान के बारे में.तो चलिए शुरू करते है.

दोस्तो आज कल बहुत सारे लोगो को बैंक या किसी दूसरी फाइनेंशियल कंपनी की तरफ से क्रेडिट कार्ड खरीद ने के लिए कॉल आता है.जिस में क्रेडिट कार्ड के इतने सारे फायदे बताते है की,आपके मन में भी क्रेडिट कार्ड को लेने का खयाल आ ही जाता है.

लेकिन क्रेडिट कार्ड लेने से पहिले एक बात याद रखे,सिर्फ इसके फायदों के बारे में सोच कर क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई मत करिए.क्युकी क्रेडिट कार्ड के जीतने जबरदस्त फायदे है,उतने ही तगड़े नुकसान भी है.तो इन नुकसान के बारे में भी आपको पता होना चाहिए.क्युकी कोई बैंक या फाइनेंस कंपनी इसके नुकसान के बारे में अपने ग्राहक को नहीं बताती है.

नतीजा ये होता है की,आपको काफी ज्यादा नुकसान उठाना पड़ता है. लेकिन आज का आर्टिकल पढ़ने के बाद आपको क्रेडिट कार्ड के सारे नुकसान के बारे में पता चलने वाला है.तो चलिए शुरू करते आज का हमारा आर्टिकल जिसका नाम है Disadvantages Of Credit Card.

क्रेडिट कार्ड के नुकसान (Disadvantages Of Credit Card)

क्रेडिट कार्ड के नुकसान (Disadvantages Of Credit Card)
क्रेडिट कार्ड के नुकसान

1. No Reminder Call

दोस्तो क्रेडिट कार्ड के बिल को टाइम पर पे करने के लिए कंपनी या बैंक से कभी आपको कोई Reminder Call नही आता.क्युकी कंपनिया या बैंक चाहती ही नही की आप क्रेडिट कार्ड का बिल का पेमेंट टाइम से पूरा करे.

क्युकी अगर आप क्रेडिट कार्ड के बिल को टाइम से पे करोगे,तो वो कमाई कैसे करेंगे.इसलिए कंपनिया जान बूझकर आपको Reminder Call नही देती.वो तो खुद चाहते है,एक क्रेडिट कार्ड होल्डर जितना हो सके उतना बिल लेट से पे करे ताकि क्रेडिट कार्ड होल्डर को बिल के पेमेंट के साथ साथ ब्याज भी पेमेंट करना पड़े.

2.रिवार्ड या बोनस प्वाइंट का Expire होना.

आज कल बहुत सारे लोगो को टीवी और इंटरनेट के जरिए पता चल गया है की,क्रेडिट कार्ड पर आपको बहुत सारे रिवार्ड,बोनस प्वाइंट,डिस्काउंट ऑफर मिल जाते है.

लेकिन कुछ लोगो को अभी तक इसके बारे में पता नहीं होता.और बैंक या कंपनिया भी आपको सामने से ये चीज बता ती नही है.

For Example

अगर आप क्रेडिट कार्ड के जरिए कुछ शॉपिंग करते है,तो आपको उसके बदले कुछ पेबैक प्वाइंट मिलते है.लेकिन इसके बारे में और इसे कैसे रिडीम करे यह जानकारी आपको कोई नही बताता है.आखिरकार वो प्वाइंट वैसे ही पड़े पड़े बाद में एक्सपायर हो जाते है.क्युकी बैंक या कंपनिया नही चाहती की आप इन रिवार्ड और कैशबैक का बेनिफिट ले.

3.फ्री में क्रेडिट कार्ड की लिमिट बढ़ाना.

दोस्त कभी कभी बैंक या कंपनी की तरफ आपको कॉल आता है,जिस में उनकी तरफ से ये बोला जाता है की,आपके क्रेडिट कार्ड की लिमिट हम ने फ्री में बढ़ा दी है.आपको भी खुशी होती है,की चलो क्रेडिट कार्ड की लिमिट फ्री में बढ़ गई.लेकिन ये सब उनके प्लानिंग का एक हिस्सा होता है.

वो लोगो आपके क्रेडिट कार्ड की लिमिट इस लिए बढ़ते है,क्युकी आपसे वो ज्यादा Annual Charge लेना चाहते है.

एक बात हमेशा याद रखे.अगर बैंक या कंपनी की तरफ से आपके क्रेडिट कार्ड की लिमिट को बढ़ाया गया है,तो आपके Annual Charges के खर्चे भी बढ़ गए है.और इसके बारे में आपको कोई नही बताएगा क्रेडिट कार्ड लेते टाइम इसलिए सावधान रहिए.

4. इन्वेस्टमेंट

गलती से भी क्रेडिट कार्ड से पैसे उधार लेकर म्यूचुअल फंड या शेयर बाजार में इन्वेस्ट न करे.क्युकी शेयर मार्केट और म्यूचुअल फंड मार्केट में रिस्क होता है.कब मार्केट उपर जायेगा और कब नीचे आएगा इसके बारे आइडिया लगाना काफी मुश्किल है.

और अगर मान लो आपने क्रेडिट कार्ड के जरिए पैसे उधार लेकर शेयर मार्केट या म्यूचुअल में पैसा इन्वेस्ट किया और मार्केट नीचे चला गया,तो यहां आपका हाल बहुत ही बुरा हो जायेगा.

मार्केट के गिरने से आपको वहां पर तो लॉस वो ही जायेगा,लेकिन क्रेडिट कार्ड के बिल का पेमेंट टाइम से पे करने का भी दबाव बढ़ेगा.और टाइम पर बिल पे नही कर पाए,तो उस पर आपसे Extra ब्याज भी वसूला जाएगा.इसलिए क्रेडिट कार्ड के जरिए ये इन्वेस्टमेंट करने की गलती आप मत ही कीजिए.

5.ज्यादा खर्चा करने की आदत

क्रेडिट कार्ड होने का सबसे बड़ा अगर कोई नुकसान है,तो यही है.की आपका खर्चों के उपर कंट्रोल नही रहता.कार्ड को अप्लाई करते वक्त आप बहुत बार बोलोगे की में सिर्फ और सिर्फ जरूरत पड़ने पर ही इस कार्ड का यूज करूंगा.

लेकिन ये सब कहने की बात होती है,एक बार कार्ड मिलने पर आपको इसकी आदत लग ही जाति है.कई बार लोग तो अपने छोटे छोटे ट्रांजेक्शन का पेमेंट भी क्रेडिट कार्ड से करते है.

6.Total Due और Minimum Due का चक्कर

एक नए क्रेडिट कार्ड होल्डर को जब क्रेडिट कार्ड का बिल आता है,तो वहा पर दो अमाउंट दी हुई रहती है.एक टोटल ड्यू और दूसरा मिनिमम ड्यू.

अब एक नए क्रेडिट कार्ड यूजर्स को लगता है मिनिमम ड्यू बैलेंस का पेमेंट करने से भी उसका काम चल जाएगा.और यही पर उसका नुकसान हो जाता है.क्युकी मिनिमम ड्यू बैलेंस का पेमेंट करने से आप से ज्यादा इंटरेस्ट चार्ज किया जाता है.इसलिए अपना पूरा टोटल ड्यू बैलेंस का पेमेंट करे.और इस चीज से बचे.

7.No Cost EMI के धोखे से बचे.

कई बार बैंक या फाइनेंशियल कंपनिया लोगो को अट्रैक्ट करने के लिए क्रेडिट कार्ड पर No Cost EMI का ऑफर देती है.लेकिन इस में भी एक चालाकी छुपी हुई होती है.

क्युकी क्रेडिट कार्ड के जरिए No Cost EMI का बेनिफिट लेने के लिए,आपको कई सारे उनके टर्म और कंडीशन को फॉलो करना पड़ता है.अगर मान लो आप ने उनके किसी टर्म & कंडीशन को फॉलो नहीं किया,तो आपके उपर ज्यादा चार्ज लगाए जाते है.

8. Hidden Charges

क्रेडिट कार्ड में कई तरह के Hidden Charges होते है.शुरवात में तो आपको इसके बारे में इतनी आइडिया नही होती.लेकिन वक्त के साथ साथ ये Hidden Charges आपको काफी नुकसान दे सकते है.

Conclusion.

तो दोस्तो ये थी जानकारी क्रेडिट कार्ड के नुकसान के बारे में.जिनसे आपको सावधान रहना बहुत जरूरी है.उम्मीद करता हु आपको आज का हमारा आर्टिकल पसंद आ गया होगा.और ऐसे ही नए नए इनफॉर्मेशन रीड करने के लिए हमारे वेबसाइट पर दोबारा जरूर विजिट करे.

आज का आर्टिकल आपको कैसा लगा हमे नीचे कॉमेंट करके या फिर ईमेल के जरिए आप अपना Feedback हमारे साथ जरूर शेयर करे.क्युकी आपके कॉमेंट और Feedback हमे और अच्छे अच्छे आर्टिकल लिखने के लिए मोटिवेट करते है.

दोस्तो एक जरूरी बात,अगर आपको हमारे वेबसाईट पर लिखे आर्टिकल पसंद आते है,और आप अपनी खुशी से हमारी टीम को कुछ Monetary Support करना चाहते हो,तो आप नीचे दिए गए QR Code के जरिए हमें सपोर्ट कर सकते हो,धन्यवाद.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *